प्रगति का तेरहवां वर्ष

 

photo three

मंजिल वही पता हैं , जिनके पाँव  आगे बढ़ते हैं , मुश्किल  कुछ भी  नहीं जिनके हौसले  बुलन्द होते हैं ,
श्री बच्चू राम -राम स्वरुप सिंह महाविद्यालय की  स्थापना रूप सिंह की स्मृति में की  गयी  हैं । निरन्तर प्रसंसनीय क्षिक्षा दान कर प्रगिति का तेरहवां वर्ष पायदान पर हैं । सामान्यतः समाज हेतु निः स्पृह भाव से की जाने वाली सेवाओ का श्रेह मुख्यतः संस्थापक / चेयरमैन भूतपूर्व प्रधानाचार्य (अ० इ ०  का) श्रीभुत शिव प्रताप सिंह जी को हैं । जो बिना प्रचार प्रसार में पड़े  निः स्वार्थ एवं समर्पित ढंग से सच्ची  विद्या दान , शीलता  की  परम्परा बनाये हुए सेवारत हैं । आपके की सतत प्रयास से २०१३ में राजश्री टण्डन मुक्त वि० वि० का पी० जी० अध्ययन केन्द्र महाविद्यालय परिषर में ही स्थापित हैं ।

 

 

 

प्राचार्य

डॉ० नीलम गुप्ता